भावांतर भुगतान योजना मध्य प्रदेश 2018 – पंजीयन, नियम, भुगतान प्रक्रिया, पात्रता

   Sarkari Yojana

Bhavantar Bhugtan Yojana 2018: जैसा की हम जानते ही हैं की भारत एक कृषि प्रधान देश है और आज भी गांव में रहने वाले ज्यादातर लोग कृषि करते हैं और उसी पर निर्भर रहते हैं | जिसके चलते उन्हें बहुत सी समस्यायों का सामना करना पड़ता है जैसे कभी-कभी बदलते मौसम के कारण फसलों का नुक्सान हो जाता है और उन्हें फसलों के उचित मूल्य भी प्राप्त नहीं हो पाते जिससे उन्हें काफी दिक्क्तें उठानी पड़ती हैं | इन्ही सब बातों पर विचार करते हुए देश के किसानो के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना निकाली है जिससे किसानो को सहायता मिल पाएगी |

भावांतर भुगतान योजना की जानकारी

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानो को उनके उत्पाद(फसल) का उचित मूल्य दिलाना है |
  • फसल के लाभकारी मूल्यों को फैसला मध्य प्रदेश कृषि उत्पाद लागत व विपानन आयोग द्वारा किया जाएगा |
  • किसानो को उनके उत्पादों के बारे में जानकारी इकठ्ठा करने के लिए फसल गिरदवारी ऐप भी बनाया गया है |
  • मध्य प्रदेश में दलहन और तिलहन के उत्पादों की खेती करने वाले लगभग 6.5 लाख किसान हैं, जो इस योजना के अंदर लाभार्थी होंगे |
  • इस योजना के जरिये यह सुनिश्चित किया जाएगा की जमीन की सीमा, विस्थापन और उत्परिवर्तन से जुड़े हुए मामलों को तीन महीने की अवधि में ही सम्बोधित किया जाए |
  • अगर किसान की तीन महीने के बाद भी कोई समस्या हल नहीं होती है तो ऐसी स्थति में सरकार द्वारा उसे इनाम दिया जाएगा और जिसकी राशि संबंधित कर्मचारी से कटौती की तरह ली जाएगी व उसके खिलाफ कार्यवाही भी होगी |

नियम

  • यदि किसान की फसल का बिक्री मूल्य, अधिसूचित मूल्य से कम है तो किसान को सूचित मूल्य और एमएसपी के मध्य की अंतर् राशि प्रदान की जाएगी |
  • यह योजना किसानो को तिलहन व दालों के साथ-साथ बागवानी करने के लिए भी प्रेरित करती है |
  • इस योजना के अंदर पंजीकृत किसानो को राशि भुगतान की सूचना एसएमएस के माध्यम से मिलती रहेगी |
  • सरकार ने इस योजना के अंदर हाल ही में सोयाबीन, मूंगफली, तिल, रामतिल, मक्का, मूंग, उड़द और तुअर और लहसुन को शामिल क्या है |

मध्य प्रदेश भावांतर योजना में भुगतान के लिए कौन-कौन सी फसल शामिल हैं और कितने मूल्य पर आइये जानते हैं –

रबी की फसल

  • हसुन – 3200
  • चना – 4,400 रुपए प्रति क्विंटल
  • सरसों – 4,000 रुपए प्रति क्विंटल
  • मसूर – 4,250 रुपए प्रति क्विंटल
  • प्याज – 8 रुपए प्रति किलो
  • तुअर मॉडल रेट = 3860 रुपए प्रति कुंतल
  • गेहूं का समर्थन मूल्य = 2000 रुपए प्रति क्विंटल

खरीफ की फसल

  • धान – 1750 रुपए प्रति क्विंटल
  • धान ग्रेड ए – 1770 रुपए प्रति क्विंटल
  • बाजरा – 1950 रुपए प्रति क्विंटल
  • सोयाबीन – 3,399 रुपए प्रति क्विंटल
  • मक्का – 1,700 रुपए प्रति क्विंटल
  • अरहर – 5675 रुपए प्रति क्विंटल
  • कपास मध्यम रेसा – 5150 रुपए प्रति क्विंटल
  • कपास लंबा रेसा – 5450 रुपए प्रति क्विंटल
  • ज्वार हाईब्रिड – 2430 रुपए प्रति क्विंटल
  • ज्वार मालडंडी – 2450 रुपए प्रति क्विंटल
  • तुअर – 5675 रुपए प्रति क्विंटल
  • उड़द – 5,600 रुपए प्रति क्विंटल
  • मूँग- 6,975 रुपए प्रति क्विंटल
  • मूँगफली – 4,890 रुपए प्रति क्विंटल
  • तिल – 5,675 रुपए प्रति क्विंटल
  • रामतिल – 5,877 रुपए प्रति क्विंटल

यह मूल्य मध्य प्रदेश के जिले अनुसार भिन्न हो सकते हैं इसलिए पहले मंडी समिति से सुनिश्चित कर लें |

एमपी भावांतर योजना जरुरी दस्तावेज़

मध्य प्रदेश भावांतर योजना में पणिकरण के लिए निम्न दस्तावेजों का होना आवश्य है –

  • आधार कार्ड या आधार पंजीकरण की रसीद |
  • बैंक खता व बैंक पासबुक के प्रथम पेज की प्रतिलिपि |
  • भूमि पंजीकरण दस्तावेज |
  • मोबाइल नंबर |

ऑनलाइन आवेदन

आइये अब हम आपको भावांतर योजना पंजीयन लहसुन, भावांतर योजना हेल्पलाइन नंबर, भावांतर योजना पंजीयन चना, भावांतर भुगतान योजना registration, आदि की जानकारी देंगे|

इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए निम्न निर्देशों का पालन करें –

  • सबसे पहले दिए गए link पर जाएं |
  • अब आपके सामने एक पेज ओपन होगा वहां गेहूं किसान पंजीयन की जानकारी के निर्देश पर क्लिक करें |
  • अब आपके सामने एक और पेज खुलेगा जिसमे अपना आधार नंबर या आईडी डालें |
  • अब “पंजीकरण करें” के बटन पर क्लिक करें |
  • अब एक और पेज ओपन होगा जिसमे आपको सभी पूछी गयी जानकारी भरकर पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करना है |
  • आप डायरेक्ट इस link से भी फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं |
No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *