Disclaimer : This website is for informative purpose only and we do not claim this to be an official government website. We try our best to update you frequently regarding the PMAY Scheme. However for latest info you can also visit : pmaymis.gov.in

Atal Bhujal Yojana 2019-2020

अटल भूजल योजना का निर्माण प्रधान मंत्री श्री मोदी जी ने किया है। यह योजना प्रधान मंत्री जी ने अटल विहारी वाजपेयी जी के जन्म दिवस के मौके पर शुरुआत की है, इसलिए इस योजना का नाम अटल भूजल योजना रखा गया हैं।

अटल भूजल योजना Kya Hai ?( Atal bhujal yojana in hindi )

इस योजना का मुख्य उद्देश्य भूजल की मात्रा को बढ़ाना है।यह योजना देश में भूजल जगहों को ऊपर उठाएगी ताकि किसानो को भी खेती करने में लाभ हो।कई जगहों पर भूजल का स्तर बहुत कम है जिसकी वजह से लोगो को अनेको प्रकार की कठिनाई का सामना करना पड़ता है इन्ही सब परेशानियों से लोगो को दूर करने के लिए केंद्रीय सरकार ने इस योजना का आरंभ किया है।

इस योजना के ज़रिये केंद्रीय सरकार किसानो को खेती के लिए सहायता प्रदान करेगी जैसे जल भण्डारण प्रदान करवाएगी और साथ ही किसानो की आये दो गुना बढ़ने में मदद मिलेगी।केंद्रीय सरकार ने इस योजना के लिए 6000 करोड़ रूपए निश्चित किया हैं, जिसमे 3000 crore रूपए वर्ल्ड बैंक के द्वारा दिए जायेंगे और बाकि के 3000 crore रूपए सरकार देगी।केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा की इस योजना के द्वारा पानी की समस्या दूर होगी।

ABHY launched date/Starting Date :-

25 दिसंबर 2019 को अटल बिहारी वाजपेयी जी की जन्म दिन के अवसर पर इस योजना को स्टार्ट किया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अटल भूजल योजना का लॉन्च किया। यह लॉन्च दिल्ली में स्थित “विज्ञान भवन” में किया गया।

अटल जल योजना(AJY ) लाभ: (atal bhujal yojana states )
इस योजना का लाभ देश के 7 राज्यों (7 States ) को मिलेगा, जैसे :-कर्नाटक,उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा,राजस्थान, महाराष्ट्र। इस योजना के ज़रिये 8350 गांव लाभ उठा सकेंगे, साथ ही मनाली को लेह तक जुड़ने वाली रोहतांग सुरंग को भी अटल सुरंग नाम दिया गया।

क्या है Atal Tunnel Yojana in Hindi?

यह योजना मनाली से शुरू होकर लेह तक जाएगी। अटल टनल योजना को 2005 में मंज़ूरी दी गयी और 4000 करोड़ रूपए की राशि फाइनल की गयी और यह टनल विश्व का सबसे ऊँचाटनल बनेगा।

अटल भूजल योजना Scheme

Atal Groundwater स्कीम कम स्तर के क्षेत्रों को बढ़ने के लिए बनाई गयी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व pradhanmantri अटल बिहारी वाजपेयी की 95 वीं जनम दिवस के अवसर पर अटल भुजल योजनाको शुरू किया। इस योजना के लिए 6000 करोड़ का खर्चा किया जायेगा।

सरकार ने इन क्षेत्रों में भूजल दोहन के स्तर के अनुसार सात राज्यों का चयन किया है। सरकार ने इन क्षेत्रों को उनकी संस्थागत तत्परता, गिरावट, स्थापित कानूनी और विनियामक साधनों, और भूजल प्रबंधन से संबंधित पहलों को लागू करने में अनुभव के कारण भी चुना है।

Why this Scheme ATAL JAL?

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि गांव की पंचायतों को जल प्रबंधन में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए, उसे बढ़ावा देने के लिए अटल जल योजना में प्रावधान किया गया है। उन्होंने यह भी कहा है कि पिछले 70 वर्षों में 3 करोड़ लोगों को 18 करोड़ ग्रामीण घरों में से पाइप की सुविधा प्राप्त हुई है और अब, सरकार ने अगले पांच वर्षों में 15 करोड़ परिवारों को स्वच्छ पेयजल सुविधा प्रदान करने की बात कही है।

Atal Bhujal Yojana के बारे में दिसंबर, 2019-20 में नए करंट अफेयर्स में शामिल किया गया है ,और IBPS, बैंकिंग, UPSC, Civ के लिए अटल भुजल upsc योजना के बारे में वर्तमान घटनाओं पर आधारित लेखो को भी शुरू किया है।

Atal Bhujal Yojana pdf

इस योजना के माधयम से रोहतांग दर्रे के नीचे स्थित सामरिक सुरंग है जिससे जो हर घर तक नल के माध्यम से पेयजल पहुंचाई जाएगी। यह योजना सात राज्यों के 8350 गांवों में जल जीवन मिशन (JJM) के साथ लागू की जाएगी।
रोहतांग सुरंग, मनाली, हिमाचल प्रदेश को लेह, लद्दाख और जम्मू कश्मीर से जोड़ते हुए, अब अटल सुरंग के रूप में जाना जाएगी।यह क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने में मदद करेगा।

पीएम ने कहा कि अटल जल योजना या जल जीवन मिशन से संबंधित दिशानिर्देश 2024 तक देश के हर घर में पानी पहुंचाने के संकल्प को साबित करने के लिए बड़े कदम हैं।जल संकट स्थिति से निकलने के लिए न्यू इंडिया को तैयार करना होगा। इसके लिए पांच स्तरों पर एक साथ काम किये जा रहे है । इस पीडीऍफ़ को यहाँ से download करे

अटल भुजल Ministry

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंगलवार को अटल भुजल योजना को मंजूरी दी जिसमें सतत भूजल प्रबंधन के उद्देश्य से 6000 करोड़ रुपये का बजट था।
अटल जल कार्यक्रम को सही मात्रा में भूजल प्रबंधन देने के लिए शुरू किया गया है। यह एक ऐसा कार्यक्रम है जिसके लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 6,000 करोड़ रुपये ki मंजूरी दी है। इसमें से 3,000 करोड़ रुपये विश्व बैंक से आएंगे, जबकि बाकी का सरकार द्वारा दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की मदद करने के लिए योजना शुरू की गई है क्योंकि पानी की अधिकांश आवश्यकताओं को पानी के नीचे के संसाधनीय, के माध्यम से पूरा किया जाता है।

अटल भू जल योजना का महत्त्व

ABY Current Affairs – 2019-2020

ABHY के बारे में दिसंबर, 2019-2020 में नए करंट अफेयर्स gktoday में शामिल किया गया है |

यह योजना उन लोगों की मदद करेगी, जिन्हें लगातार भूजल आपूर्ति की जरूरत है। काफी समय से किसान लोग जो कठिन से कठिन समस्या से झेल रहे हैं उनका ध्यान रखकर मुख्य रूप से विभिन्न जल योजनाओ का आरम्भ किया है जिसे उन्हें इस परेशानी से राहत मिले।

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *