प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना – Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana – PM Saubhagya Yojana

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना (Pradhan Mantri Saubhagya Yojana): देश में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार के द्वारा अन्य बहुत सी योजनाए चलायी गयी है। उन सभी योजनाओं में से एक योजना P M Saubhagya Yojana भी है। इस स्कीम को Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana के नाम से भी जाना जाता है। PM Saubhagya Yojana के द्वारा Har Ghar Roshan हो रहा है।

Saubhagya Scheme के द्वारा सभी घरो में (Electricity for All) की सुविधा प्रदान की जा रही है। आप भी Sobhagya योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए Saubhagya Yojana Website पर जा कर अपना पंजीकरण कर सकते है और इस स्कीम का लाभ उठा सकते है और आप इस Scheme से जुडी जानकारी को pdf Format में भी Download कर सकते है।

Saubhagya Yojana Kya hai?

सभी देश वासियों को यह जानकार अत्यधिक प्रशंसा होगी हमारे देश के Prime Minister Narendra Modi Ji ने सम्पूर्ण देश वासियों के लिए एक सौभाग्य योजना की पहल की है। इस स्कीम की शुरुआत केंद्र सरकार के जरिए की गयी थी। Saubhagya Yojana Launch Date 25 सितंबर 2017 है। ऐसे कई राज्यों में अभी तक बिजली की सुविधा उपलब्ध नहीं है तो इस स्कीम के जरिये अब उन सभी गरीब परिवारों के घरों में बिजली उपलब्ध कराने का सपना साकार होगा। यह Saubhagya Yojana up में Year 2018 में लांच की गयी थी। इस Scheme की शुरुआत Up में Up के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने उत्तर प्रदेश विधुत विभाग के द्वारा की थी।

Objectives (उद्देश्य ) :-

केंद्रीय सरकार के द्वारा शुरू की गयी सौभाग्य योजना के मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित है :-

  •  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का यह योजना को शुरू करने के पीछे का मुख्य उद्देश्य यह है कि देश में सभी क्षेत्रों में बिजली उपलब्ध कराई जाये।
  •  देश में सभी राज्यों के ग्रामीण तथा शहरी घरों में चौबिसों घंटे बिजली उपलब्ध करायी जाये।
  • Government के द्वारा विद्युत उत्पादन पर जोर देते हुए राज्यों में अच्छे Thermal Power Plants का निर्माण किया जाए।
  • इस Scheme के तहत villages तथा दूर के क्षेत्रों में रहने वाले सभी लगभग 3 Crore गरीब परिवारों को फायदा पहुंचना है।
  • इस स्कीम के जरिये जो लोग Financial Condition मजबूत न होने के वजय से विधुत कनेक्शन की सुविधा नहीं ले सकते उन सभी को बिजली बिल कि सुविधा उपलब्ध कराना है।

Total Budget (कुल बजट )

सरकार को इस Yojana को पूर्ण करने के लिए लगभग 16,320 Crore रूपये का खर्चा आएगा। जिसमे से Special Category में रखे गये States को India Government के द्वारा लगभग 85% की रकम प्रदान की जाएगी। जिसमे से 5% का Contribution State Government का निर्धरित होगा तथा शेष बचे हुए 10% का योगदान Financial Institutions एवं Banks Loans के जरिये किया जाना है। वही दूसरी ओर जो States को Special Category में नहीं रखे गये है उन सभी States में योगदान का 60% India Government का रहेगा। जिसमे 10% का Contribution State Government के द्वारा किया जाना है तथा 30% का Contribution अनुदान Financial Institutions के द्वारा किया जायेगा और बाकी का बचा हुआ Banks Loans के जरिये किया जायेगा।

सौभाग्य योजना के लिए पात्रता (Eligibility for Saubhagya Scheme)

  • इस सौभाग्य योजना के लाभार्थी को OBC तथा BPL यानि गरीबी रेखा से नीचे का होना आवश्यक है।
  • लाभार्थी का नाम वर्ष 2011 के तहत समाजिक-आर्थिक जनगणना की List में नाम दर्ज होना चाहिए।
  • लाभार्थी के पास सभी आवश्यक दस्तावेज का होना अनिवार्य है।
  • सभी लाभार्थी लोगों का सौभाग्य योजना के लिए Registraion होना चाहिए।

Uses (योजना के फायदे )

  • वर्ष 2011 के अनुसार जिन लोगों का नाम सामाज‍िक-आर्थिक जनगणना में है उन सभी को इस योजना के अंतर्गत मुफ्त ब‍िजली कनेक्‍शन उपलब्ध कराया जायेगा।
  • योजना के तहत Wiring एवं मीटर Transformer, जैसे सभी Devices पर भी Subsidy प्रदान की जाएगी।
  • वही दूसरी ओर वर्ष 2011 के अनुसार जिन लोगों का नाम Socio-Economic Census में नहीं है उन सभी को इस योजना के तहत बिजली का कनेक्‍शन मात्र 500 रुपये के शुल्‍क पर उपलब्ध कराया जायेगा।
  • इस Scheme के अंतर्गत जिन लोगों को Electrical Connection मात्र 500 रुपये के शुल्‍क पर उपलब्ध कराया जायेगा उनको यह 500 रुपये किश्त को भी दस बार में चुकाने का मौका उपलब्ध कराया जायेगा।
  • देश में जिन राज्यों के Areas जहां अभी तक बिजली की सुविधा उपलब्ध नहीं हुई है। वहां सरकार के द्वारा सभी घरों के लिए Solar Pack की सुविध उपलब्ध कराई जाएगी।
  • इस योजना के तहत B.P.L. Card धारक यानी कि गरीबी रेखा से नीचे के लोग एवं अन्य पिछड़े वर्ग के लोग इस Scheme का लाभ प्राप्त कर पाएंगे।
  • इस Saubhagya Scheme को in Gujarat, Uttar Pradesh, Madhya Pradesh, Jammu and Kashmir, Bihar, Jharkhand, Odisha,Rajasthan और States of the Northeast के साथ ही देश के कई राज्यों लिए शुरू की गयी है।

आवश्यक दस्तावेज (Required Documents) : 

इस योजना में आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज का होना अनिवार्य है:-

  • Aadaar Card, Voter ID
  • आय प्रमाण पत्र,
  • जाति-प्रमाण पत्र,
  • APL एवं BPL Card,
  • PAN Card,
  • Passport Size Photo
  • Mobile Number.

Yojana List ki jaankaari

  • Living in UP : Government of Uttar Pradesh ने सभी घर में Electricity पहुँचाने के लिए जिस Saubhagya Yojana को शुरू किया है उसका योजना का लाभ सिर्फ UP में रहने वाले लोगों के लिए है।
  • For Poor Peoples : उत्तर प्रदेश लिस्ट इस योजना के लिए सिर्फ उन लोगों को ही चुना जायेगा जो कि Socio-economic तथा Generic रूप से Poor है।
  • For The Rural Areas Peoples : इस योजना के तहत सभी ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले सभी बीपीएल (BPL), एवं अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC)वर्ग के लोगों को इस योजना का लाभ दिया जायेगा।
  • शहरी क्षेत्र के बीपीएल एवं अन्य पिछड़े वर्ग : इस योजना में वही लोग शामिल हो सकते है जो शहरी क्षेत्र में रह रहे है। किन्तु वह सभी BPL यानि गरीबी रेखा से नीचे या अन्य पिछड़े वर्ग (OBC) लोगों की List में आते हो। सिर्फ इन दोनों श्रेणी के लोगों को ही इस योजना का लाभ प्राप्त हो पायेगा। सामान्य वर्ग के लोगों को इस योजना के अंतर्गत किसी भी प्रकार का लाभ नहीं दिया जायेगा।

Online Apply कैसे करें ?

Saubhagya Yojana के लिए ऑनलाइन अप्लाइ करने के लिए दिए गए निम्नलिखित Steps को Follow करें :-

  • Online Apply करने के लिए सबसे पहले सरकारी योजना की Official Website पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपको योजना का नाम का चयन करना होगा।
  • योजना का नाम चुनने के बाद आपको ऑनलाइन आवेदन करने के लिए दिए गए Online Apply Option पर Click करना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपको Right Side में एक अतिथि (Guest) का Option दिखाई देगा।
  • अब आप उस अतिथि (Guest) के Option पर Click करें।
  • उसके बाद आपके सामने Saubhagya Yojana का Registration Form दिखाई देगा।
  • उस form को Download करें।
  • Form Download करने के बाद आप उस Form में मांगी गई सभी जानकारी Fill कर दे।
  • Form भर जाने के बाद आप उस फॉर्म को Submit कर दे और इस तरह आपका Registration हो जायेगा।
  • अगर आपने सौभाग्य योजना रजिस्ट्रेशन फॉर्म पहले से ही भर चुके हो तो केवल आपको अपना User Name or Password डालना होगा और आपको इस Yojana की सारी Information मिल जाएगी।

Registration

सौभाग्य योजना रजिस्ट्रेशन करने के लिए आप सौभाग्य योजना की Official Website पर जाकर भी Online Registraion कर सकते है या फिर Saubhagya Yojana App के जरिये भी आप अपना पंजीकरण कर सकते है।

App पर पंजीकरण करने के लिए दिए गए निम्नलिखित Steps को Follow करें :-

  • Saubhagya Yojana App के जरिये Registration करने के लिए आपको स्‍कीम से जुड़े App को Download करना होगा।
  • Form को Fill करने के बाद Submit करना होगा।
  • Form Submit करने के बाद Electricity Connection लेने के ल‍िए आपका रजिस्‍ट्रेशन हो जाएगा।

सौभाग्य योजना टोल फ्री नंबर

सरकार ने Saubhagya Yojana से संपर्क करने के लिए सौभाग्य योजना टोल फ्री Helpline नंबर भी उपलब्ध कराया है।

Toll-Free Helpline Number – 1800-121-5555.

 

बिहार अंतर्जातीय विवाह योजना

बिहार अंतर्जातीय विवाह योजना – Inter caste Marriage Yojana – Online Apply, Amount, Eligibility

बिहार सरकार ने विवाह प्रोत्साहन राशि के माध्यम से अंतरजातीय विवाह को प्रोत्साहित करने हेतु , एक नई योजना शुरू की है।इस स्कीम के अनुसार जब कोई व्यक्ति किसी अनुसूचित जाति या अनुसूचित जन जाति के किसी व्यक्ति से विवाह करेगा तो उसे सरकार प्रोत्साहन राशि के रूप में 2,50,000 रुपए प्रदान करेगी । राज्य सरकार की इस योजना को राज्य में बढ़ते जातिवाद को समाप्त करने के उद्देश्य के साथ लाया गया है । Inter-Caste Marriage Scheme का पक्ष लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने भी इसका समर्थन किया है और कहा है कि हम अंतर जाति विवाह नियम के खिलाफ नहीं है । इससे जुड़ी पूरी जानकारी को PDF में भी देख सकते है ।

विवाहित जोड़ों में से युवक यदि बिहार राज्य के किसी जिले का निवासी है तो उसे जिले से आवेदन करना होगा । लड़के के बिहार का निवासी ना होने की स्तिथि में लड़की को अपने जिले से आवेदन करना होगा । इस योजना के चलते डॉ. भीमराव अंबेडकर स्कीम फॉर सोशल इंटरीग्रेशन थ्रू इंटरकास्ट मैरिज (अंतर जाति विवाह नियम bihar) के तहत 2.50 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी ।

अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य (Aim)

Bihar की Inter-Caste Marriage Scheme for Social Integration के लिए शुरू की गई है । समाज में फैले जाति प्रथा , दहेज प्रथा जैसी बीमारियों को दूर करना इसका मुख्य उद्देश्य है । इस योजना के माध्यम से महिलाओं को सबल और सशक्त बनाने की दिशा में एक कदम उठाया गया है । हमारे समाज के लिए अंतरजातीय विवाह के फायदे अनेक होंगे जिनको हासिल करना ही सरकार का लक्ष्य है ।

  • अन्तर्जातीय विवाह करने वाली महिलाओं को आर्थिक रूप से निर्भर बनाने के लक्ष्य को पूरा किया जाएगा ।
  • समाज़ में व्याप्त जाति-पाँति की बुराई को दूर किया जाएगा ।
  • छुआछूत और दहेज प्रथा जैसे कुप्रथा से समाज़ को बचाने का लक्ष्य पूरा किया जाएगा ।

अंतरजाति विवाह योजना के लिए धनराशि (Incentive Amount)

भारत सरकार के Union Ministry of Social Justice and Empowerment (केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय) के विभाग भीमराव अंबेडकर फाउंडेशन की तरह से Inter cast Marriage (Antarjaateey vivaah) करने पर एक निश्चित राशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाती है । Antar Jati Vivah Yojana के तहत दीजाने वाली राशि पहले 50,000 रुपए थी जिसे साल 2019 में बढ़ाकर 2,50,000 कर दिया गया है ।

जिसमे से ₹ 1,50,000 उसी समय दिए जाएंगे और शेष बचे ₹ 1,00,000 को 3 वर्ष के Fixed Deposite (सावधि जमा) के रूप में दिए जाएंगे । अब यदि इसमे केंद्र सरकार और राज्य सरकार की भागीदारी की बात करे तो एक लाख पचास हजार रुपए की राशि (₹ 1,50,000) Union Government और एक लाख (₹ 1,00,000) की राशि State Government द्वारा दिए जाने का प्रावधान है ।

बिहार अंतर्जातीय विवाह योजना की पात्रता (Eligibility)

Inter-Caste Marriage Scheme के तहत राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि को पाने के लिए आवेदकों को निम्नलिखित मानदंडों को पूरा करना होगा।

  • विवाहित जोड़े का पहला विवाह होना चाहिए ।
  • नव विवाहित युगल को “हिन्दू मेरिज ऐक्ट” के अंतर्गत रेजिस्टर्ड होना चाहिए ।
  • लाभार्थी के विवाह को 1 साल से अधिक का समय नहीं होना चाहिए अर्थात वही दम्पत्ति इस योजना का लाभ उठा सकते है जिनका विवाह एक साल के भीतर हुआ हो ।
  • विवाहित युवक बिहार की किसी भी जिले का निवास हो सकता है यदि वह राज्य का निवासी नहीं है तो उसके साथी के नाम से आवेदन किया जाएगा ।
  • नव विवाहित जोड़े का आधार कार्ड से लिंक बैंक खाता होना चाहिए ।
  • शादीशुदा दम्पत्ति के पास उनके विवाह का प्रमाणपत्र निश्चित रूप से होना चाहिए ऐसा ना होने पर वे लाभ के पात्र नहीं रहेंगे ।

अंतर जाति विवाह लाभ आवेदन फार्म/पंजीकरण (Aplication Form/Registration)

इस योजना द्वारा दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि को प्राप्त करने के लिए सबसे पहले लाभार्थी को इसका आवेदन फॉर्म को भरना होगा। जिसके लिए आपको निम्नलिखित बिंदुओं का अनुसरण करना होगा ।

  • सबसे पहले Antarjatiy विवाह योजना की आधिकारिक वेबसाईट पर जाए ।
  • यहाँ पर आपको अंतर जाति विवाह योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त होगा ।
  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही सही भर दीजिए ।
  • फॉर्म ध्यान पूर्वक भरकर, जन्म प्रमाण पत्र, विवाह और जाति प्रमाण पत्र को संलग्न करे ।
  • विवाह के लिए आवेदन करने वाले वर या वधू में से एक सवर्ण और एक अनुसूचित जाति या अनुसूचित जन जाति का होना अनिवार्य है।

योजना से जुड़े जरूरी दस्तावेज़ (Documents Required)

  1. आवेदक का आधार कार्ड और वोटर आई डी कार्ड दोनों होना जरूरी है ।
  2. विवाह करने वाले युवक – युवतियों की पासपोस्ट साइज़ फोटो ।
  3. आवेदक का बैंक खाता संख्या ।
  4. आवेदक का जन्म प्रमाणपत्र ।
  5. निवास स्थान प्रमाण पत्र।
  6. जाति का प्रमाणपत्र ।
  7. विवाह का प्रमाण पत्र ।
भमस _कार्ड_इमेज_4

Download Bhamashah Card Online | Without Emitra and Mobile

How to Download Bhamashah Card without Emitra?

bhamasaah card को हम बिना Emitra जाकर भी डाउनलोड कर सकते है जिसके लिए आपको सिर्फ अपने रेजिस्टर्ड मोबाईल नंबर की जरूरत पड़ेगी।इसके अलावा आप अनलाइन भी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।इसे साथ ही सरकार ने एप भी निकाली है ,आप  bhamashah app download करकर भी सारी जानकारी घर बैठे अपने फोन पर भी देख सकते हैं। इस आर्टिकल से आप जन पाएंगे की केसे bhamashah card editing की जाती है ओर केसे हम bhamashah card activate kaise kare कर सकते हैं आदि।

Bhamashah Card Download by Mobile

  • सबसे पहले आप भामाशाह कार्ड की official website पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपको भामाशाह ई कार्ड डाउनलोड पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते समय 10 digit का Mobile नंबर मांगेगा।
  • आपको अपना registered number डालना होगा।
  • इस प्रोसेस के बाद आपको 6digit का OTP Number प्राप्त होगा।
  • इसके बाद आपसे bhamasaah receipt sankhya मांगी जाएगी जिसको डालने पर आपको डाउनलोड लिंक रीसीव होगा।
  • ओर आप अपना भमसाह कार्ड प्राप्त कर सकते हैं।

Bhamashah Card Download Online Pdf

  • भामाशाह कार्ड को हम PDF फॉर्मैट में भी डाउनलोड कर सकते है जिसके लिए हमे SSO or Rajasthan Single Signon की आधिकारिक वेबसाईट पर जाना होगा।SSO का यूआरएल लिंक  है:-
  • bhamasah Card को डाउनलोड करने के लिए आपको सबसे पहले  राजस्थान की SSO वेबसाईट पर विज़िट करना होगा।उस साइट के माध्यम से आप directly यह कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।नीचे दी गई पंक्तियों में बताया गया है की केसे हम यह कार्ड आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।
  • सबसे पहले आप SSO website पर जाएंगे।
  • उसके बाद आपको लॉगिन करना होगा अपनी डिजिटल आइडेंटिटी (digital identity)से या फिर अपने Username Password से।
  • फिर आप citizen app पर क्लिक करेंगे।
  • then आप भामासाह पर क्लिक करेंगे।
  • इसके बाद आपको Bhamashah application के लिए थोड़ा सा wait करना होगा।
  • अब आप Enrollment बटन पर क्लिक करेंगे।
  • जिसमे आपको कई प्रकार के options मिलेंगे जेसे Family status,citizen add member, E-card Citizen, Bhamasah Editing.
  • अब आप E Card Citizen option बटन पर क्लिक करेंगे।
  • अपना Member Name select करकर अपने Bhamashah Member card को verify करेंगे ओर OTP submit करना होगा।
  • उसके बाद आप अपना E-Card button डाउनलोड करना होगा।
  • अब आप देखेंगे की  Bhamashah E Card की pdf डाउनलोड होना स्टार्ट हो गई हैं।

भमस_कार्ड_इमेज_1

 

भमस_कार्ड_इमेज_2

 

भमस_कार्ड_इमेज_3

Enrollment of Bhamashah Card

bhamashah card का enrollment दो प्रकार से होता हैं। यह सॉफ्टवेयर ऑनलाइन और ओफलाइन मोड दोनों पर काम करता हैं।

  1. Bhamashah Card के लिए offline Avedan करने के लिए  सभी गाँव की पंचायत में और शहरी विस्तारो में एक वार्ड के लिए camp/शिविर का आयेजन किया जाएगा।
  2. online Avedan राज्य का कोई भी नागरिक कर सकता है।ऑनलाइन आवेदन करने के लिए भामाशाह योजना के ऑफिसियल वेबसाइट(official website) पर जाकर आवेदन कर सकते है।
  3. ओर अगर एनरोलमेंट करवाते समय आपको कुछ इनफार्मेशन अपडेट करनी हो तो आप update कर सकते हो जिसमे परिवार में नया सदस्य का जुड़ना,किसी भी सदस्य की शादी, परिवार के सदस्य की मौतरेसिडेंट एड्रेस में बदलाव, या फिर बैंक अकाउंट में changes.

Enrollment With UIDAI

  • जिन भी लोगों के पास उनका Aadhaar कार्ड होगा उनको directly फोरम फिल करना होगा।
  • नागरिक की पूरी जानकारी Bhamashah सॉफ्टवेयर के द्वारा भरी जाएगी।
  • इस प्रोसेस से आप आधार नंबर से इस कार्ड के लिए  Enroll हो सकते हैं।

 Enrollment Without Aadhar Number

अगर किसी व्यक्ति के पास आधार कार्ड नहीं है तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं क्योंकि आप बिना Aadhar Number के भी इस कार्ड का लाभ उठा सकते हैं।आपके पास अगर आधार कार्ड नहीं है तो eMitra – Kiosk के माध्यम से आप अपना आधार कार्ड बनवा सकते हैं इसलिए आप पहले अपना कार्ड बनवाएँ ओर फिर आवेदन करे।

How to Edit Bhamashah Card

  • आपको भामासाह editing को सिलेक्ट करना होगा।
  • उसके बाद आपको member name सिलेक्ट करकर OTP जेनरैट पर क्लिक करना होगा।
  • अब आप OTP सबमिट करकर editing details को सिलेक्ट करना होगा।
  • आप edit करकर फोरम सबमिट कर सकते हैं।
  • आपका online editing प्रोसेस पूरी तरह से हो चुका हैं।

भमस_एडिट _इमेज _1

 

भमस_एडिट_इमेज_3

निर्मल ग्राम पुरुस्कार योजना

Nirmal Gram Puraskar Yojana [NGPY] | निर्मल ग्राम पुरस्कार | Apply Online

भारत के पेयजल एवं स्वास्थय मंत्रालय (DEPARTMENT OF DRINKING WATER AND SANITATION) ने ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों के बेहतर health तथा जीवन के स्तर को सुधारने के लिए October 2003 में “निर्मल ग्राम पुरस्कार” के नाम से प्रोत्साहित करने वाली एक award scheme का आरंभ किया गया । यह पुरुस्कार गांवों, ब्लॉकों, पंचायतों , जिलों तथा राज्यों को हर प्रकार से खुले में शौच करने वाली समस्या से छुटकारा दिलाने के उद्देश्य से लाई गई । इस पुरुस्कार को देने के लिए किसी भी पंचायती राज का चुनाव , सफाई के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए किया जाता है । स्कीम के Brand Ambassador के Famous Cricketer Saurav Ganguly है।

ग्रामीण भागात राहणा या लोकांचे आरोग्य आणि जीवनमान सुधारण्यासाठी ऑक्टोबर 2003 मध्ये भारतीय निर्मल पेयजल व आरोग्य मंत्रालयाने “निर्मल ग्राम पुरस्कार” नावाची पुरस्कार scheme सुरू केली.खुले दिसायला लावण्यापासून मुक्त व्हावे या उद्देशाने हा पुरस्कार गाव, गट, पंचायत, जिल्हा आणि राज्यात आणला गेला. हा पुरस्कार देण्यासाठी कोणत्याही पंचायती राजांची निवड स्वच्छतेच्या विविध बाबी लक्षात घेऊन केली जाते. या योजनेचे ब्रँडम्बेसेडर हे प्रसिद्ध क्रिकेटपटू सौरव गांगुली आहेत.

इस Yojna से जुड़ी Information in Marathi, English, में भी जान सकते है । Scheme की Marathi Mahiti, नीचे दी गई है । इसकी जानकारी विस्तार से जानने के लिए Nirmal Bharat Abhiyan portal पर भी जा सकते है

Nirmal Gram Yojana Information

एन जी पी के अंतर्गत जिन पंचायती राज संगठनों तथा समूहों को चुना गया , जिन्होंने अपने कार्यकाल में उनके अधीन के संचालन क्षेत्रों (Operating Areas) में सम्पूर्ण रूप से स्वच्छता कवरेज सुनिश्चित करने के लिए कार्य किया ।वर्ष 2005 में सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान (TSC) के लिए पहली बाद पुरुस्कार वितरण किया गया । जिसमे इस स्कीम को प्रथम पुरुस्कार दिया गया ।

  • ग्राम पंचायतों के विजेता के लिए 1 लाख से लेकर 10 लाख रुपए तक की पुरुस्कार राशि तय की गई जो उनकी जनसंख्या के आधार पर तय की जाएगी।
  • पानी की समय – समय पर जांच करने वाली और सभी इलाकों में जल आपूर्ति की सुविधा देने वाली पंचायतों के लिए 5 लाख के अतिरिक्त पुरुस्कार की भी व्यवस्था की गई ।
  • यदि एक पंचायत समिति के अंतर्गत आने वाली सभी ग्राम पंचायतें निर्मल स्वीकार की जाति है तो उस Panchayat committee के लिए 15 से 20 लाख का प्रोत्साहन पुरुस्कार तय किया गया ।
  • इसी प्रकार किसी जिला परिषद की सभी Gram Panchyaton के निर्मल साबित होने पर उस District Council को 30 से 50 लाख तक के prize का provision है ।

योजना का उद्देश्य (Objectives)

  1. Village क्षेत्र में स्वच्छता अभियान को गति प्रदान करने के मकसद से इस plan को लागू किया गया जिसके महत्वपूर्ण  पॉइंट इस प्रकार है :-
  2. Rural Area में दैनिक जीवन के स्तर में स्वच्छता का महत्व को बढ़ावा दिया जाए ।
  3. लोग सफाई की अच्छी आदत को पाले और उससे होने वाले फायेदों को समझे ।
  4. खुले में शौच करने की समस्या से मुक्ति दिलाने हेतु पंचायती राज संस्थाओं (पी आर आई) को प्रोत्साहित किया जाए ।
  5. वो Village Panchayat जिनको केंद्र सरकार द्वारा Nirmal Gram Puruskar दिया गया है उन्हे राज्य सरकार द्वारा भी एक लाख रुपये का पुरुस्कार वितरित किया जाएगा ।
  6. राज्य सरकार द्वारा उन पंचायत समिति को 5 लाख का पुरुस्कार दिया जाएगा जिसकी 10 Village पंचायत को निर्मल ग्राम पुरुस्कार प्राप्त हुआ हो ।
  7. State Government द्वारा उन जिला परिषद को भी 10 लाख का पुरुस्कार दिया जाएगा जिसकी 30 से अधिक विलेज पंचायतें पुरुस्कार पा चुकी है ।

योजना की पात्रता (Eligibility)

  • किसी भी ग्राम पंचायत को इसकी पात्रता हासिल करने के लिए निम्नलिखित मापदंडों को पूरा करना होगा। –
  • इस Yojna के लिए वही विलेज पंचायत पात्र हो सकते है जिन्होंने अपने क्षेत्र में खुले में शौच करने पर रोक लगाने के लिए प्रयास किया हो और उस कार्य के लिए अग्रसर हो ।
  • जिन Gramin पंचायतों के अधीन आने वाले क्षेत्र में पीने के लिए पानी और साफ – सफाई हेती जल की उचित व्यवस्था की गई हो ।
  • Nirmal Bharat Abhiyaan (NBA) के सभी घटकों को पूरा कर लिया हो ।
  • जिन ग्राम पंचायतों की Entry(प्रवेश) Ministry of Drinking Water and Sanitation की IMIS (Integrated Management Information System) प्रणाली में की गई हो ।

निर्मल ग्राम योजना स्कोरिंग पैटर्न

Gram Panchyat के चुनाव के लिए नीचे दिए गए scoring pattern को ध्यान में रखा जाना है :

पात्रता ( Criteria ) अधिकतम अंक न्यूनतम अंक
Necessary Criteria (आवश्यक मापदंड)
1 वैयक्तिक  पारिवारिक शौचालय (आई, एच, एच, एल.) 50
2 विद्यालय साफ-सफाई 8
3 आंगनबाड़ी साफ-सफाई 8
4 राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम (एन.आर.एच.डी.डब्ल्यू.पी.) दिशानिर्देशों के अनुसार पर्याप्त  जल की सुविधा 10 85
5 आई.ई.सी. गतिविधि 9
अन्य मापदंड
6 ठोस अपशिष्ट प्रबंधन 5
7 तरल अपशिष्ट प्रबंधन 10 5
कुल अंक 100 90

पुरस्कार राशि

Rural Area की जनसंख्या के आधार पर पुरुस्कार राशि (Prize Money for winners) का प्रावधान दिया गया जिसका विवरण नीचे दिया गया है :

Criteria(योग्यता)/राशि

Village Panchayat (ग्राम पंचायत)

जनगणना-2011 के अनुसार जनसंख्या 1000 से कम 100 से 1999 2000 से 4999 5000 से 9999 10,000 तथा उससे अधिक पुरस्कार राशि  (लाख रु० में/ In Lacs)

चयन प्रक्रिया (Selection Process)

MDWS द्वारा एन जी पी के स्थिरता की गणना करने हेतु उस ब्लॉक की 25 विलेज पंचायतों को चुना जाएगा । ये चयन प्रसिद्ध स्वतंत्र कंपनियों द्वारा एक सर्वेक्षण (serve) कराकर किया जाएगा । चयन प्रक्रिया में इन सर्वेक्षण की रिपोर्ट के साथ Application Forms आवेदन पत्रों को चयन समिति के सामने रखा जाएगा जिसमे उक्त चीजें शामिल होंगी :

  • पेयजल और स्वास्थ्य मंत्रालय का Joint Secretary (सचिव) और समान पद पर आसीन अधिकारी ।
  • पेयजल और स्वास्थ्य मंत्रालय का निदेशक( Director)।
प्रधानमंत्री पोषण अभियान

PM Modi Poshan Abhiyaan in Hindi | Theme List & Official Portal

Poshan Abhiyan 2020:प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने पोषण अभियान शुरू किया है जिसका मुख्य उद्देश्य भारत को वर्ष 2020 तक कुपोषण बनाना हैं।इस सरकारी योजना के तहत सभी राज्यों ,जिलों ऑर कस्बों को शामिल किया गया है। Pradhanmantri Poshan Abhiyan Jan Andolan की टैगलाइन (tagline) “सही पोषण देश रोशन” है।प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने दिनांक 08 मार्च 2018 को राजस्थान के झुंझूनू जिले में इस योजना का निर्माण किया।

भारत के विकास को बढ़ाने के लिए सबसे पहले उसे कुपोषण रहित करना बहुत जरूरी हैं, क्योंकि जब महिलायें ऑर बच्चे स्वस्थ होंगे तभी तो देश उन्नति करेगा ऑर वे लोग अपने आने वाले समय में तरक्की कर पाएंगे।

राष्ट्रीय पोषण मिशन कार्यक्रम (national nutrition mission) के द्वारा ठिगनेपन यानि (Snooping) की अल्प पोषाहार (Nutritional nutrition) ,रक्त की कमी (Anaemia) तथा जन्म के समय बच्चे के वजन कम होने के स्तर में कमी के उपाय करेगा.(PM Poshan Abhiyan) की गतिविधियों की सूची (list) और विषय-वस्तु आप अनलाइन (online) पोषण अभियान की official site पर जाकर दे सकते हैं। जिससे आपको upsc के लिए ज्ञान प्राप्त होगा।

Rashtriya पोषण अभियान (Mission) Objective 

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य भारत को कुपोषण से मुक्त करना है। जिसके लिए सरकार गर्भवती औरतों और बच्चों के लिए यह मुहीम चला रही हैं।

यहाँ पोषण अभियान 2020 के लिए विषय-वस्तु की पूरी सूची (list) है:-

  1. स्तनपान(Feeding The Beast)
  2. किशोर एड, आहार, विवाह की आयु(Teenage ed, diet, age of marriage)
  3. रक्ताल्पता(Anemia)
  4. एंटेनाटल चेकअप(Antennal checkup)
  5. ईसीसीई(ECCE)
  6. खाद्य दुर्ग और सूक्ष्म पोषक तत्व(Food fortification and micronutrients)
  7. विकास की निगरानी(Development monitoring)
  8. स्वच्छता, जल, प्रतिरक्षा(Cleanliness, water, immunity)
  9. विकास की निगरानी(Development monitoring)
  10. पोषण (कुल मिलाकर पोषण आहार)(Nutrition (Overall Nutrition Diet))

P M Modi Poshan Campaign Check Activities

मुहिम में होने वाली गतिविधियों की पूरी सूची नीचे दर्शाई गई है:-

  1. पोषण रैली (Poshan Rally)
  2. एनीमिया शिविर(Anaemia Camp)
  3. क्षेत्र स्तरीय महासंघ (एएलएफ) बैठकें(Area Level Federation (ALF) Meetings)
  4. CBE – समुदाय आधारित घटनाएँ (ICDS)(Community based events)
  5. सामुदायिक रेडियो गतिविधियाँ (Community radio activities)
  6. सहकारी / संघ(Co-operative / union)
  7. साइकिल रैली(Bicycle rally)
  8. दिन-एनआरएलएम एसएचजी मीट(DAY-NRLM SHG Meet)
  9. डेफाइट डायरिया अभियान (D2)(Deficit diarrhea campaign)
  10. किसान क्लब की बैठक(Farmers club meeting)
  11. हाट बाज़ार गतिविधियाँ(Hot market activities)
  12. किसानों का त्यौहार(Farmers festival)
  13. घर का दौरा(Home visit)
  14. स्थानीय नेता बैठक(Local Reader Meeting)
  15. नुक्कड नाटक / लोक कार्यक्रम(Street Theater)
  16. पंचायत की बैठक(Panchayat Meeting)
  17. पोषण मेला (रैली)(Nutritional Fair Rally)
  18. प्रभात फेरी(Morning Walk)
  19. शौचालयों को पानी उपलब्ध कराना(Providing water to the toilets)
  20. आंगनबाड़ी केंद्रों में सुरक्षित पेयजल(Safe drinking water in anganwadi centers)
  21. स्कूलों में सुरक्षित पेयजल (गतिविधियाँ)(Safe Drinking water in schools)
  22. स्वयं सहायता समूह (SHG) बैठकें (Self Help Group meetings)
  23. युवा समूह की बैठक(Youth Group meetings)
  24. पोषण वॉक (कार्यशाला)(Nutritional Walk workshop)
    S.No   

Key Nutrition Strategies and Interventions

1 Infant and Young Child Feeding (IYCF)
2 Food and Nutrition
3 Immunization
4 Institutional Delivery
5 WASH(Water, Sanitation &Hygiene)
6 DE-worming
7 ORS-Zinc
8 Food Fortification
9 Dietary Diversification
10 Adolescent Nutrition
11 Maternal Health and Nutrition
12 ECD(Early Childhood development)/ECC(Early childhood care and Education)
13 Convergence
14 ICT/Rtm(Information & Communication Technology enabled Real Time Monitoring)
15 Capacity Building


Key Facts of Pradhan Mantri PA Jan Andolan  2020

  • कुपोषण के समाधान के लिए कई प्रकार की योजनाओं का निर्माण करना ऑर उसके योगदान का प्रतिचित्रण
  • अत्यधिक मजबूत अभिसरण (Strong convergence system)तंत्र शुरू करना।
  • ICT based वास्तविक समय निगरानी प्रणाली(Real-time monitoring system)
  • संघ राज्य(Union Territories) क्षेत्रों को प्रोत्साहित करना साथ ही प्राप्त करने वाले राज्यों को बढ़ावा देना।
  • आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों को आधारित उपकरणों(equipment based ) के प्रयोग के लिए प्रोत्साहित करना।
  • आंगनवाड़ी केंद्रों पर बच्चों की (Height Measurement )ऊंचाई मापन start करना।
  • सामाजिक लेखा परीक्षा करना। (Social Audit )
  • लोगों को जन आंदोलन(mass movement ) के माध्यम से पोषण पर विभिन्न गतिविधियों को शामिल करना।
  • पोषण संसाधन केंद्रों (Nutrition Resource Centre )की स्थापना करना।
Ministry

Full Form

MWCD Ministry of Women and Child Development
MOHFW Ministry of Health and Family Welfare
MODW&S Ministry of Drinking water and Sanitation
MOPR Ministry of Panchayati Raj
MORD Ministry of Rural Development
MOHUA Ministry of Housing and Urban Affairs
MHRD Ministry of Human Resource Development
MOIB Ministry of Information and broadcasting
MOTA Ministry of Tribal Affairs
AYUSH Ayurvedic,Yoga and Naturopathy,Unani,Siddha and Homoeopathy
MOYA&S Ministry of Youth Affairs and Sports
MOD Ministry of Defence
MOA&FW Ministry of Agriculture and Farmer’s Welfare

स्कीम ऑफ आभियान (Scheme)

POSHAN अभियान स्कीम राष्ट्रीय पोषण मिशन के लिए PM की योजना है जो की  बच्चों, गर्भवती महिलाओं (Pregnent women) और स्तनपान कराने वाली महिलाओं (Breast Feeding Women ) के लिए पोषण के परिणामों में सुधार लाने के लिए भारत सरकार का Programme  है।

पोषण Abhiyan का लक्ष्य (Targets):-

इस मिशन का lakshya कुपोषण और कम वजन के बच्चों की जन्मदर को हर वर्ष दो फीसदी तक कम करना है।

  • आठ मार्च को राजस्थान के झुंझुनू में Prime Minister अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर राष्ट्रीय पोषण मिशन (एनएनएम) NNMकी शुरुआत करेंगे।
  • सरकार का aim 2020 तक NNM के लिए 9046 करोड़ रुपए की राशि के  budget का लाभ दस करोड़ लोगों तक पहुंचाना है।
  • इसका योजना का मुख्य काम  बच्चों, महिलाओं और युवतियों में होने वाले एनीमिया की कमी को वर्ष 2020 तक प्रति वर्ष तीन फीसदी कम करना है।
  • Present में स्टंटिंग को 2022 तक 38.4 फीसदी से 25 फीसदी तक लाना है।
  • केंद्र का total contribution 2849.54 करोड़ रुपए तय किया गया हैं।  
  • केंद्र का कुल योगदान (total contribution) 2849.54 करोड़ रुपए फाइनल हुआ और राज्य सरकार कुल मिलाकर 1700 करोड़ रुपए का खर्च करेगी।
  • प्रधानमंत्री बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम को पूरे भारत में फैलाने का भी उद्घाटन (Inauguration )करेंगे।
  • देश के 161 जिलों को बढ़ाकर 640 जिलों तक पहुचाया जाएगा।
  • नरेंद्र मोदी जी ने रविवार को अपने मासिक रेडियो Programme ( मन की बात) में सभी को संतुलित पोषक आहार देने की बात कही साथ ही जनभागीदारी(Public Participation )से कुपोषण को face करने पर जोर दिया।
    पोषण आहार के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए सितंबर महीने को Rashtriya POSHAN Maah के रूप में मनाने घोषित किया ऑर उन्होंने इससे जुडने के लिए भी Request की।
  • Total Budget (Allotment ) में से 50 Percent इंटरनेशनल बैंक ऑफ रिकन्स्ट्रक्शन एंड डेवलपमेंट(International Bank of Reconstruction and Development) (आईबीआरडी) (IBRD) or अन्य बैंक योगदान करेंगे।
  • Rest बची राशि राज्यों और केंद्रों के बीच 60 और 40 के अनुपात में साझा(Shared Ratio) की जाएगी।

Official Portal

इस योजना से जुडने के लिए ऑर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप अनलाइन आधिकारिक वेबसाईट पर जा सकते हैं।
Official वेबसाईट पर विज़िट करने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे।

Contact Details

Helpline no (24×7) : 011 – 2336-2376, 2336-8202 

Contact Address:  POSHAN Abhiyaan –National Nutrition Resource Centre (Central Project Management Unit )                               (NNRC – CPMU)Ministry of Women and Child Development, Government of India
3rd Floor, Jeevan Vihar Building, Sansad Marg, New Delhi – 110001
अरुंधति स्वर्ण योजना की जानकारी

Arundhati Swarna Yojana Assam – अरुंधति स्वर्ण योजना की जानकारी

Arundhati Swarna’scheme को mukhyamantri(मुख्यमंत्री) के द्वारा चलाया गया है।chief minister(CM) का कहना था की वे महिलाओं को सशक्त बनाना चाहती हैं ओर इसके साथ विवाह पंजीकरण में वृद्धि चाहती हैं।इस आर्टिकल में आपको यह पता चलेगा की केसे आप arundhati scheme assam online apply कर सकते हैं,how to apply for arundhati scheme in assam,how to apply arundhati gold scheme में खुद को केसे जोड़ सकते हैं ओर केसे assam arundhati gold scheme how to apply करेंगे।इस योजना से जुड़ी जानकारी या प्रश्न latest current affairs,upsc,ibps जेसे कम्पेटिटिव exams में पूछे जाते हैं।

Arundhati Swarna Yojana Kya Hai ?

यह योजना भारत मे असम सरकार ने 1 जनवरी 2020 से शुरू की गई है जिसका मुख्य उद्देश्य है सभी दुल्हनों को 10 ग्राम सोना प्रदान करना।इस योजना के माध्यम से हर साल 800 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इस योजना के जरिए शादियों के रेजिस्ट्रैशन को बढ़ावा मिलेगा ओर यह बाल विवाह को रोकेगा।असम राज्य की सभी लड़कियों को उनकी शादी में gold गिफ्ट किया जाएगा।

Objective (उद्देश्य)

इस योजना के माध्यम से असम सरकार पंजीकृत विवाह की percent को बढ़ाना चाहती है ओर साथ ही बाल विवाह को रोकना भी है।इस योजना से जुडने के लिए कम से कम उम्र होनी चाहिए ओर कानूनी तौर पर 18 वर्ष की आयु अनिवार्य हैं।

How to Apply Arundhati Scheme

  • arundhati gold scheme apply online आवेदन 1954 विशेष विवाह अधिनियम के तहत शादी के रेजिस्ट्रैशन के दिन arundhati swarna yojana में आवेदन करेगा।
  • Marriage application के साथ arundhati scheme form भरकर Marriage officer को सबमिट करना होगा जहा भी आपकी मेरिज रेजिस्ट्री हुई है।
  • अरुंधती गोल्ड योजना के लाभ के लिए लड़कियां अनलाइन फोरम भरेंगी जिसका लिंक है 
  • फोरम फिल करने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा ओर उसका प्रिन्ट आउट भी निकालना होगा।
  • उसके बाद आवेदक को विवाह पंजीकरण अधिकारी के द्वारा receipt रीसीव होगी जहा पर भी उन्होंने shaadi registration किया होगा।
  • अनलाइन आवेदन की स्वीकृति की जानकारी आपको आपके रेजिस्टर्ड मोबाईल नंबर ओर ईमेलid के द्वारा प्राप्त हो जाएगी।
  • अगर आपकी arundhati scheme apply online application को स्वीकृति मिल जाएगी तो आपकी बैंक अकाउंट में राशि DBT के माध्यम से Inspector General of Registration के द्वारा ट्रैन्स्फर की जाएगी।
  • बैंक खाता संख्या बैंक विवरण के समय दी गई जानकारी से मेल खानी चाहिए जहा पर अपने IFSC or Bank Details दी होगी।

Documents Required(जरूरी दस्तावेज)

  • Permanent address proof
  • Aadhaar card number
  • Family income certificate
  • Birth certificate or other age proof
  • Educational certificates
  • Caste certificate

Eligibility (पात्रता)

  • दुल्हन के परिवार की वार्षिक आय 5lakh से कम  होनी चाहिए।
  • शादी करते समय लड़के की उम्र 21 साल होना चाहिए ओर लड़की की 18 साल होनी चाहिए।
  • अरुंधति स्वर्ण योजना का लाभ किसी भी लड़की को उसकी पहली शादी पर ही प्राप्त होगा।
  • इस योजना के दौरान स्पेशल मेरिज ऐक्ट 1954 के तहत रजिस्टर करना अनिवार्य होगा।
  • चाय बागान समुदाय ओर आदिवासी समुदाय की  शैक्षणिक योग्यता उन लड़कियों पर लागू नहीं की जाएगी।
  • सरकार इन जगहों पर high schools का निर्माण नहीं कर पाती हैं।

Arundhati Swarna Scheme Benefits

स्वर्ण स्कीम के तहत नई शादी के लिए असम राज्य की लड़कियों को लाभ होगा।सभी लाभ उठाने योग्य कन्याओं को 10 ग्राम सोना प्रदान किया जाएगा इसके अलावा concerned authorities के द्वारा यह भी निश्चित किया है की सभी लाभार्थियों को 10 ग्राम सोना देने के बजाय Rs.30,000 की राशि उनके बैंक अकाउंट में डायरेक्ट ट्रैन्स्फर की जाएगी जिसकी वजह से वे उस पैसे का उपयोग नए कामों की इच्छा सहित gold खरीदने में किया जाएगा।

Arundhati Swarna Yojana Registration

अरुंधती योजना के अंतर्गत कोई ऐप्लकैशन फोरम नहीं भर जाएगा। आपको इस योजना का फायदा उठाने के लिए सिर्फ आपको Special Marriage (Assam) Rules, 1954 के तहत पंजीकरण करना जरूरी होगा। अगर भविष्य में राज्य इस स्कीम मे कोई बदलाव लाती है तो हम आपको सूचित करेंगे।

माझी कन्या भाग्यश्री योजना

माझी कन्या भाग्यश्री योजना 2020 | Mazi Kanya Bhagyashree Scheme [MKBY]

1 अप्रैल 2016 को महाराष्ट्र सरकार द्वारा बालिकाओं के अनुपात को सुधारने , कन्या भ्रूण हत्या को रोकने तथा महिलाओं की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए माझी कन्या भाग्यश्री योजना ची माहिती की शुरुआत की । इस योजना के तहत यदि राज्य में रहने वाले माँ – बाप एक बेटी को जन्म देने के बाद नसबंदी कराते है तो उनको राज्य सरकार की ओर से 50000 की राशि दी जाएगी । ये राशि उनकी बेटी के नाम में बैंक में जमा कराई जाएगी । इसी प्रकार यदि दूसरी पुत्री के जन्म के बाद माता – पिता नसबंदी कराते है तो दोनों बेटियों  के नाम पर 25-25 हजार रुपये राज्य सरकार द्वारा जमा कराए जाएंगे ।

Mazi Kanya Bhagyashree Scheme From Government of Maharashtra

माझी भाग्यलक्ष्मी स्कीम के तहत केवल वे ही परिवार इस प्लान का लाभ उठाने में सक्षम होंगे जिस परिवार की सालाना आय 7.5 लाख से अधिक ना हो । पहले इस नीति के तहत जिन परिवारों की आय 1 लाख रुपये तक थी केवल वे ही परिवार इस plan का लाभ उठा सकते थे । लेकिन नए संशोधन के तहत कन्या के परिवार की आय को 1 लाख रुपए से बढ़ाकर 7.5 lacs कर दी गई है ।

इस योजना के अनुसार कन्या को ब्याज (Interest) का पैसा नही मिलेगा । बल्कि पहली बार बालिका के 6 साल के होने पर , दूसरी बार 12 साल की होने पर राशि मिलेगी और 18 साल की उम्र में पूरी रकम दे दी जाएगी । इस स्कीम का लाभ उठाने के लिए बालिका का 18 वर्ष का होना आवश्यक है और साथ ही साथ उसका अविवाहित होना आवश्यक है ।

योजना का पूरा नाम माझी कन्या भाग्यश्री योजना
शुरू की गयी महाराष्ट्र सरकार / Women & Child Development
Launch Date 1 April 2016
लाभार्थी राज्य की बालिका
Official Website www.womenchild.maharashtra.gov.in

Mazi Kanya Bhagyashree Yojana Eligibility

  • इस योजना का लाभ एक परिवार की केवल तो बेटियों द्वारा ही उठाया जा सकता है ।
  • यदि माता पिता का तीसरा बच्चा हो जाता है तो पहली दो पुत्रियाँ इस योजना का लाभ नहीं उठा सकती ।
  • 18 वर्ष की होने पर ही लड़की को पूरी राशि प्राप्त करने का हक प्राप्त होगा ।
  • पहली कन्या के जन्म के बाद अभिवावकों द्वारा परिवार नियोजन का कोई उपाय किया हो तो कन्या 50 हजार की राशि की हकदार होगी ।
  • इस योजना का लाभ तभी प्राप्त हो पाएगा जब पहली कन्या के जन्म के 1 साल के अंदर और , दूसरी कन्या के 6 माह के भीतर ही माता-पिता द्वारा परिवार नियोजन का कदम उठाया गया हो ।
  • लाभ प्राप्त करने की हकदार लड़की और उसकी माँ Nationalized Bank सरकारी बैंक में एक Joint Account संयुक्त खाता खुलवाया जाएगा ।
  • साथ ही साथ इस योजना के पात्र को 1 लाख का दुर्घटना बीमा ( Accidental Insaurance) और 5 हजार का ओवर ड्राफ्ट भी प्राप्त होगा ।
प्रधानमंत्री माझी कन्या भाग्यश्री योजना
माझी कन्या भाग्यश्री योजना..

Majhi Kanya Bhagyashree Yojana Documents

माझी कन्या योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवेदक करता के पास जिन जिन जरूरी दस्तावेजों का होना आवश्यक है वह इस प्रकार है :

  1. आधार कार्ड (Aadhar Card)
  2. माँ और बेटी के नाम का संयुक्त खाता नंबर (Joint Account Number in the Name of Mother & daughter)
  3. स्थायी निवास प्रमाण-पत्र ( Residencial Proof )
  4. आय प्रमाण-पत्र (Income Certificate)
  5. जन्म प्रमाण पत्र ( Birth Certificate)
  6. Mobile Number
  7. पासपोर्ट साइज़ फोटो
  8. बालिका के 18 साल के होने पर जब उसको योजना के अंतर्गत पूरा लाभ मिलेगा उस समय उसके पास 10 कक्षा की अंकतालिका (marksheet) होनी अनिवार्य है ।

Mazi Kanya Bhagyalaxmi Yojana Online Application | Form PDF

  • MKBY 2020 का लाभ उठाने के इच्छुक लाभार्थीयों को इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाईट पर जाना होगा ।
  • महाराष्ट्र Government department की इस Portal पर जाने के बाद Application Form को Download कर लीजिए ।
  • Registration Form डाउनलोड करने के बाद इसमे पूछी गई सम्पूर्ण जानकारी को सही-सही भर दीजिए । उदाहरण के लिए – नाम , माता-पिता का नाम , पता , जन्म तिथि आदि ।
  • सभी Information को भरने के बाद उससे संबंधित दस्तावेजों की प्रतिलिपि को फॉर्म के साथ संलग्न(Attach) करके अपने नजदीक के बाल एवं महिला विकास कार्यालय (Office of Child and Women Development) जाकर जमा कर दे ।
  • अब आपका Mazi Kanya Bhagyashree Yojana 2020 के लिए आपका रेजिस्ट्रैशन पूरा हो जाएगा ।

इस योजना से संबंधित अन्य योजनाए :-

निर्यात ऋण विकास योजना

NIRVIK Yojana – निर्यात ऋण विकास योजना

NIRVIK Scheme (निर्यात ऋण विकास योजना):- आज हम आपको (निर्यात ऋण विकास योजना) Nirvik Scheme Launched By Central Government के बारे में जानकारी प्रदान कर रहे है। जिसमे आपको UPSC, ECIS, Insurance Covers और Nirvik Scheme Date के बारे में जानकारी मिलेगी। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के Apply Online कैसे करे आवेदन या पंजीकरण करने के लिए क्या-क्या पात्रता और जरूरी दस्तावेज़ चाहिए।

What is NIRVIK Scheme (निर्यात ऋण विकास योजना क्या हैं ?):-

इस योजना का आरंभ श्री माननीय पीयूष गोयल ने किया है। यह योजना Export Credit Guarantee Corporation of India के द्वारा Start की है। Nirvik योजना के अंतर्गत Central Government Exporters को Easy Loans देकर Big Relief for Exporters निर्यातकों के लिए बड़ी राहत देगी। केंद्रीय सरकार Exporters को Insurance Premium Rates को 0.6% घटाकर छोटे निर्यातकों को इसका लाभ प्रदान करेगी। यह सभी उन छोटे-छोटे निर्यातकों के लिए Applicable किया जायेगा जिन निर्यातकों के ऊपर 80 Crore Rupees से कम Outstanding Limit है। पीयूष गोयल ने कहा है कि Proposal approval के लिए जल्द ही Cabinet के जरिए फैसला लिया जाएगा।

Objectives of Niryat Rin Vikas Yojana (निर्यात ऋण विकास योजना के उद्देश्य)

Prime Minister NIRVIK Yojana को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य Exporters के लिए Loan Availability और Affordability को प्रोत्साहन करना है। ये निर्णय Indian Exports को Competitive बनाने तथा Export Credit Guarantee Corporation of India Procedures को Exporter के Reconcilable बनाने के लिए Help करेगा। ये New Yojana से Taxes की with Reimbursement Ministry of Micro Exporters को Benefited किया जायेगा। Export Credit Guarantee Corporation of India Insurance Cover Banks को अन्य सभी Facility देगा। Borrower की Credit Rating Accounts में Increased की जाएगी। बढ़े हुए Insurance Cover पर यह निर्भर होगा कि Exporters के लिए Foreigner और Rupee Export Credit Interest Rate 4 % and 8 % से नीचे रहेगा।

Benefits (लाभ)

  • यह निर्यात ऋण विकास योजना Indian Exports को Competitive बनाने में सहायता प्रदान करेगी।
  • निर्यात ऋण विकास योजना Export Credit Guarantee Corporation of India Procedures को Exporter के Reconcilable बना देगी।
  • Exporters के लिए Loan Availability में बढ़ोत्तरी की जाएगी।
  • Claims को Immediately Dispose  करने की वजह से Capital Relief, कम Provision की आवश्यकता और Fluidity की वजह से Insurance Cover में Loan Cost में कमी होने के आसार है।
  • निर्यात ऋण विकास योजना Export Area के लिए Time पर और Sufficient Working Capital निश्चित की जाएगी।
निर्विक योजना
Big Relief for Exporters

Launch Details of Export Credit Insurance Scheme

Niryat Rin Vikas Yojana – एक्सपोर्ट क्रेडिट इंश्योरेंस स्कीम (ECIS) ने लगभग 30 दिनों के अन्दर 50% तक के Interim Payments और Claims को समाप्ति के लिए एक Simple Process निर्धारित किया है। इसके लिए, Exporters को बीमाकृत बैंक के द्वारा अलग प्रकार से Production of Proof of Use of Advances करना पड़ेगा।Export Credit Insurance Scheme (ECIS) Endorsement पांच साल की समय सीमा के लिए Applicable किया जाएगा और इस Scheme की समाप्ति में, Export Credit Guarantee Corporation of India कवर Regular Facilities के साथ Banks के लिए Provide किया जाएगा।

  • Export Credit Guarantee Corporation of India ने Under 10 Crore Rs. के Claims पर Inspection करना बन्द कर दिया है तथा Export Credit Guarantee Corporation of India Board के जरिए इसे Approved किया गया है।
  • Maximum Two-Quarters अथवा NPA की दिनांक के लिए with Indirect Interest Principal Balance को Include करने के लिए Coverage Expanded किया है।
  • अब Export Credit Guarantee Corporation Officers के जरिए Bank Documents एवं Inspection of Records 10 Crore Rs. से अधिक के नुकसानों के लिए Compulsory किया जाएगा। Currently Limit for Settlement of Claims 1 Crore rupees की गई है।
  • यह Proposed Insurance Cover Capital Relief and Provision की कम जरुरत के वजह से Loan cost लाने वाला होगा।

Registration Process (पंजीकरण की प्रक्रिया)

निर्यात ऋण विकास योजना (NIRVIK Scheme) यह योजना की घोषणा कुछ ही समय पूर्व श्री मान पीयूष गोयल ने एक Press Conference में की थी। इस योजना के पंजीकरण प्रक्रिया के बारे में अभी किसी भी प्रकार की कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। जैसे ही इस निर्यात ऋण विकास योजना (NIRVIK Scheme) के Registration Process से सम्बन्धित किसी भी प्रकार की जानकारी सरकार के द्वारा Update होती है। तो हम आपको निर्यात ऋण विकास योजना (NIRVIK Scheme) के पंजीकरण के बारे में अपने Artical के जरिए जानकारी जल्द ही प्रदान करेंगे।

Eligibility Criteria (पात्रता मापदंड)

  • छोटे निर्यातकों के लिए (For Small Exporters Only): योजना का विवरण Expose करता है कि केवल Small Exporters को इस नवीन Centrally sponsored Yojana के Allowances applied करने और प्राप्त करने की Permission दी जाएगी।
  • बैंक की सीमा की आवश्यकता (Bank Limit Requirement ): इस योजना के विवरण में यह उल्लेख किया गया है कि Low Premium Rate सिर्फ उन Exporters के लिए लागू किया जायेगा, जिनके पास Bank Account Limits Available है, जो 80 Crore Rs. का मार्क को Cross नहीं करते है।
  • भारतीयों के स्वामित्व वाला व्यवसाय (Business owned by Indians): इस योजना के सभी Benefits को प्राप्त करने के लिए, Business Ownership एक भारतीय नागरिक (Indian citizen )के पास होना अनिवार्य है।Documents Required for Nirvik Scheme (निर्विक योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज)

Documents Required for Nirvik Scheme

  • Business PAN Card: अगर Exporters के पास संगठन के नाम पर Issued किया गया PAN Card नहीं है, तो वे सभी योजना के लाभ के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे इसलिए PAN Card का होना अति आवश्यक है।
  • Certificate of GST: सभी Small Exporters के पास पंजीकरण दस्तावेज जरूर होना चाहिए, जो GST Department के द्वारा Issued किए गए है।
  • Insurance Documents: अगर कोई Exporter लाभ का दावा करना चाहते हैं, तो इच्छुक Small Exporters के लिए सभी Insurance Policy से संबंधित दस्तावेज Submit करना अनिवार्य है।
  • Identity Proof of The Owners (मालिकों का पहचान प्रमाण): कंपनी किसी एक व्यक्ति के स्वामित्व की हो अथवा किसी Partnership Firm की हो, दावेदारों(Claimants ) की सत्यता की जांच के लिए आधार कार्ड की तरह पहचान के लिए दस्तावेज जमा करना अनिवार्य है।
  • Bank Loan Certificates: अगर आवेदक ने कभी बैंक ऋण प्राप्त किया है तो उससे जुड़े जांच के लिए ऋण संबंधी सभी दस्तावेज जमा कराना अनिवार्य होगा।
उधयोग मित्र योजना

Rajasthan Udyog Mitra Yojana in Hindi – राजस्थान उद्योग मित्र पोर्टल

राजस्थान उद्योग मित्र क्या हैं ?: राजस्थान सरकार ने राज्य में बढ़ती बेरोजगारी की समस्या को दूर करने और युवाओं के लिए उद्यमों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से Raj Udyog Mitra के नाम से एक पोर्टल की शुरुआत की है । उस योजना उन लोगों के लिए काम करेगी जो लोग सूक्ष्म , लघु या मध्यम उद्योगों की शुरुआत करना चाहते है ।

किन्तु MSMEs (Micro , Small and Medium Enterprises) के नियम – कानूनों को पूरा ना कर पाने के कारण उनका ये सपना साकार नहीं हो पा रहा है । ये योजना ऐसे ही व्यक्तियों के लिए काम करेगी । जो अपना कोई नया व्यवसाय बिना किसी सरकारी या कानूनी अनुमति के स्टार्ट कर सकते है ।

यदि आपका किसी प्रकार का छोटा या बड़ा कोई उद्यम या पेशा है तो आप उद्योग मित्र पोर्टल के आवेदन पत्र को भरकर अपना पंजीकरण (Registration) करवा सकते है । आज इस लेख में इस योजना से संबंधित Important dates की पूरी जानकारी को हम विस्तार से जानेंगे।

Objective of Rajasthan Udyog Mitra Yojana

इस ऑनलाइन पोर्टल को राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा 12 जून 2019 को लॉन्च किया गया था । इसको लागू करते समय Chief Minister ने टैग लाइन दी थी “सरकार का हाथ, आम आदमी का साथ”।

  • इस स्कीम का मुख्य उद्देश्य प्रांत में छोटे और मध्यम स्तर पर उद्योगों को फैलाना है जिससे राज्य में फैल रही Unemployment की समस्या से राज्य मुक्त होगा ।
  • इस नीति का प्रबंधन राज्य के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा किया जाएगा ।
  • इस योजना के अंतर्गत आजीविका (Livelihood) अर्जित करने के नए आयाम और देश के आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलेगा ।
  • इस के साथ ही इस प्लान का लक्ष्य Rajasthan Government के कानून के अंतर्गत उद्यमों का संचालन तथा निरीक्षण करना है ।

Registration Process

  • Scheme के पंजीकरण के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाईट पर जाए
  • होम पेज पर आपको Log In का विकल्प दिखेगा उसपर click करे|
  • फिर वह आपसे आपका मोबाईल नंबर मांग जाएगा उसे दर्ज करे|
  • फिर आपके पंजीकरत मोबाईल नंबर पर एक OTP आएगा
  • OTP दर्ज करने के बाद आपको  अपने पसंद का पासवर्ड डालना होगा ।
  • अपने हिसाब से पासवॉर्ड डाल दे और सेव कर दे ।
  • आपका online registration पूरा हो जाएगा ।

How to Apply Online

  • राजस्थान उद्योग योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको इसकी Official Website पर जाना होगा ।
  • यहाँ जाते ही आपको दायें हाथ की तरफ ऊपर की ओर “Sign Up” का विकल्प दिखाई देगा उस पर क्लिक कर दीजिए ।
  • यहाँ आपको ” Login” और ” registration” ये तो ऑप्शन देखाई देंगे। ऊपर दी हुई जानकारी के अनुसार पंजीकरण कर लीजिए।
  • अगर आपका पंजीकरण पूरा हो चुका है तो Login पर जाए ।
  • अब आपको अपना Usernam, Password , और इमेज में दिया गया Captcha Code enter कर दीजिए और लॉगिन का बटन दबा दीजिए ।
  • ये करते ही आप अपना आवेदन फॉर्म भर दीजिए ।
  • जिसके बाद आपको Digital रूप में सरकार द्वारा हस्ताक्षरित घोषणा पत्र प्राप्त हो जाएगा ।

Portal Launch Information

महत्वपूर्ण बिन्दु  संबंधित जानकारी 
नाम   राजस्थान उद्योग मित्र पोर्टल
घोषणा की तारीख   फरवरी–मार्च, 2019
लांच की तारीख  12 जून 2019
लांच किसके द्वारा किया गया   राज के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा
संबंधित विभाग  सूचना एवं जनसंपर्क विभाग
पंजीकरण की शुरुआत   जून 2019 से
टैग लाइन  सरकार का हाथ, उद्यमी के साथ

Key features of RUMY

  • यहाँ पंजीकृत होने के बाद किसी भी प्रकार के MSME को शुरू करने या उसको चलाने के लिए किसी भी प्रकार  की अनुमति की आवश्यकता नहीं होगी ।
  • इस प्लान में शामिल होने एयले सभी व्यवसायों को 3 साल के लिए हर प्राकर की जांच -पड़ताल (inspection) से छूट मिलेगी ।
  • घोषणा के लिए दाखिला लेने के लिए कोई शुल्क(Fees) नहीं लिया जाएगा ।
  • इसका Certificate प्रांतिए स्तर पर नोडल संस्थाओं (State Level Nodal Agencies) द्वारा प्रस्तावित किया जाएगा ।

Documents Required For Raj Udhyog Scheme

योजना के आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेजों की सूची इस प्रकार है

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता पासबूक की फोटो
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • आधार कार्ड से लिंक Mobile Number
  • मतदाता पहचान पत्र

Eligibility Criteria

  • इस योजना के लिए आवेदन करने हेतु आवेदक का राजस्थान का मूल निवासी होना आवश्यक है ।
  • नए उद्यमों को ही इस योजना के तहत छूट दी जाएगी ।
  • जो व्यवसाय पहले से ही MSMEs के तहत रेजिस्टर्ड है उनको 2019 के प्रावधान में शामिल नहीं किया जाएगा ।
  • इस स्कीम का लाभ वही उद्यमी उठा पाएंगे जिन्होंने पोर्टल की घोषणा के बाद ही इसका registration कराया हो ।
  • अर्थात जिन्होंने 4 मार्च 2019 के बाद इस योजना के लिए आवेदन किया हो ।

Helpline Number

यदि आपको इस नीति के लिए आवेदन करते हुए या अन्य किसी भी प्रकार की कोई कठिनाई या समस्या आ रही है तो आप इसके हेल्पलाइन Number पर call कर सकते है :

नंबर – 0141-2227899/7812/7713

ईमेल – bip.raj@nic.in

कृषि उड़ान योजना

प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना 2020 (PM Krishi Udaan Yojana)

भारत की वित्त मंत्री श्रीमति निर्मला सीतारमण ने शनिवार को केन्द्रीय बजट 2020 की घोषणा की। इस बजट की घोषणा के साथ-साथ देश के नागरिकों के लिए की अन्य सरकारी योजना शुरू करने की भी बात की गई । इन्ही स्कीम में से एक किसान उड़ान Scheme को किसानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य से शुरू किया गया । साल 2020-21 के वित्तीय बजट में 2022 तक देश के किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा गया है ।देश का नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation) इस योजना को जल्द ही लागू करने जा रहा है ।

मुख्य बिन्दु  जानकारी 
नाम (Name) कृषि उड़ान योजना
घोषणा की गई (Date) 1 February 2020
घोषणाकर्ता वित्त मंत्री श्रीमति निर्मला सीतारमन
लाभार्थी देश के किसान
वित्तीय बजट 2020-2021
लक्ष्य किसानों की आय को दुगुना करना
शुरू की वर्तमान मोदी सरकार ने

What is PM Krishi Udan Yojana?

किसान उड़ान स्कीम क्या है? 

कृषि उड़ान स्कीम किसानों के विकास और समृद्धि के लिए शुरू की गई है । जो देश के किसानों को उनके द्वारा उत्पादित वस्तुयों का परिवहन करने और उनके सही समय से बाजार में पहुंचाने का काम करेगी । किसानों को उनकी पैदावार का उचित मूल्य मिल सकेगा जिससे वह और अच्छी फसल की खेती कर सकेंगे। यह स्कीम 2018 में चालू की गई One District One Product Scheme 2020 के समान है जिसे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लागू किया गया था ।

इस प्लान के साथ साथ Finance Minister ने कृषि रेल की भी घोषणा की है । जिसकी सहायता से उत्पादों को सीधे मंडी तक समय से पहुंचाया जाएगा जिससे उनको सही कीमत मिल सके । और वे अपने परिवार का पालन-पोषण अच्छे से कर सके और बच्चों को शिक्षित कर सके ।

Benefits of KUY (योजना के फायदे)

Farmers देश की रीढ़ की हड्डी (Backbone) है । उनकी दयनीय स्तिथि को सुधारने के लिए Kisan Udan Yojana को लागू किया गया। इस योजना के लागू होने से कृषकों को होने वाले फायदे निम्नलिखित है :-

  • इस Plan की मदद से किसानों की आय दुगुनी हो जाएगी।
  • इस Scheme के तहत पैदा हुई वस्तुओं को समय से मार्केट में पहुंचाया जाएगा जिससे उनके खराब होने से पहले उनकी बिक्री हो जाये और किससनों को उचित मूल्य मिल सके ।
  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस योजना को चलाया जा रहा है ।
  • विमानों की सहायता से उत्पादों को एक जगह से दूसरी जगह भेज जाएगा ।
  • जल्दी खराब होने वाले सामान जैसे दूध , सब्जी , माँस आदि को विमानों के माध्यम से ही बाजार में पँहुचाया जाएगा ।
  • इस Scheme के लिए National और International दोनों विमानों का इस्तेमाल किया जाएगा ।
पीएम कृषि उड़ान योजना
Budget 2020..

How Krishi Udan Yojana Works?

किसान उड़ान योजना के तहत वो किसान जिनको उड़ान स्कीम के अंतर्गत सब्सिडी मिलती और वो किसान जिनको सब्सिडी नहीं मिलती है दोनों को ही घरेलू और बाहरी मार्गों से चीजों को लाने – लेजाने में छूट दी जाएगी । अभी तक राज्य सरकार और केंद्र सरकार द्वारा सब्सिडी में शामिल होने वाले किसानों को छूट मिलने का प्रावधान था। इससे संबंधित जानकारी अभी विस्तारित रूप में उपलब्ध नहीं है । सरकार द्वारा इसकी घोषणा होते ही हम सबसे पहले आपको इसकी पूरी जानकारी देंगे ।

Kisan Rail

2020 के आम बजट में किसान उड़ान Scheme के साथ कृषि रेल स्कीम की भी शुरुआत की गई । किसान रेल खाद्य पदार्थों को एक जगह से दूसरी जगह पहुँचने का काम करेगी । Kisan rail में एक रेफ्रीजरेटर कोच का निर्माण किया जाएगा जिसकी सहायता से फल सब्जियों और अन्य खाद्य पदार्थों को बिना किसी नुकसान के सही जगह पर पहुंचाया जा सकेगा ।जो वस्तुएँ जल्दी से सड़ जाति है या खराब हो जाती है उनको मंडियों तक पहुँचने के लिए रेल चलाई जा रही है ।

Registration  Process

  • स्कीम का लाभ पाने के लिए पहले इसकी आधिकारिक वेबसाईट पर जाकर पंजीकरण करना होगा ।
  • जिसमे आपको अपना मोबाईल नंबर रेजिस्टर्ड करना होगा ।
  • इस मोबाईल नंबर पर आपको एक OTP दिया जाएगा ।
  • जिसको डालकर आप का रेजिस्ट्रैशन पूरा हो जाएगा ।

How to apply online

इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के इच्छुक व्यक्ति जी आवेदन करना चाहते है । हम उनको बताना चाहेंगे की उनको पहले पंजीकरण करना होगा उसके बाद ही ये इस प्लान के तहत आवेदन कर सकते है । वित्त मंत्री द्वारा अभी इसकी घोषणा की गई है लेकिन इसको औपचारिक रूप में कब तक लागू किया जाएगा ये तय होना अभी बाकी है ।

जैसे ही सरकार द्वारा दिशानिर्देश (Guideline) की घोषणा की जाति है आपको तुरंत की सूचित किया जाएगा । तब तक थोड़ा इंतजार करना होगा । आप हमारी Website के द्वारा हमसे जुड़े रहे ।