National Pension Scheme Contribution Hike by 14% -राष्‍ट्रीय पेंशन योजना

   Sarkari Yojana

रिटायरमेंट के बाद हर कोई अपना जीवन बिना किसी परेशानी से जीना चाहता है और इसी के लिए वह पेंशन योजनाओं में निवेश करता है जिससे की वह अपने रिटायरमेंट के बाद बिना किसी पर निर्भर हुए आसानी से अपना जीवन व्यतीत कर सके | रिटायर्ड लोगो को किसी प्रकार की परेशानी न झेलनी पड़े  इसीलिए भारत सरकार ने पेंशन व रिटायरमेंट क्षेत्र में विकास करने के लिए नई पेंशन योजना निकली है | जिससे लोगों को पेंशन प्राप्त करने के साथ-साथ अन्य लाभ भी मिल पाएंगे | हमने नीचे इसके बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की हुई है |

राष्‍ट्रीय पेंशन योजना

  • राष्‍ट्रीय पेंशन योजना के जरिये लोग अपनी बचत संचित कर पाते हैं और अपने आगे आने वाले जीवन के लिए सही जगह निवेश कर पाते हैं |
  • ज्यादा से ज्यादा वृद्ध और रिटायर्ड लोगों को आर्थिक सुविधा प्राप्त हो पाए इसलिए सरकार ने राष्ट्रीय पेंशन योजना का निर्माण किया है|
  • नई पेंशन योजना में रिटायरमेंट की उम्र बड़ाने की आशंका है |
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदक को PRAN(Permanent Retirement Account Number) प्रदान किया जाता है जिससे वह नियमित तौर पर अपने खाते का संचालन कर सके |
  • राष्‍ट्रीय पेंशन योजना के अंदर दो प्रकार के खाते होते है – टायर 1(यह एक नॉन विथड्रावल सेविंग अकाउंट है जिसमे  आवेदक को 60 साल की आयु के बाद ही पैसा मिलता है) व टायर 2 (यह एक साधारण सेविंग अकाउंट है जिसमे से कभी भी पैसा निकाला जा सकता है परन्तु इसमें टैक्स लाभ प्राप्त नहीं होता है)|

राष्‍ट्रीय पेंशन योजना पात्रता

  • केंद्र सरकार के कर्मचारी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं |
  • राज्‍य सरकार के कर्मचारी भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं |
  • कॉर्पोरेट से जुड़े व्यक्ति भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है |
  • कोई भी व्‍यक्ति इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है परन्तु नियम व शर्तों के अनुसार |
  • अनऑर्गनाइज्‍ड सेक्‍टर वर्कर-स्‍वावलंबन योजना के लोग भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं |

राष्‍ट्रीय पेंशन योजना के लाभ

  • यह एक पारदर्शी व लाभकारी पेंशन स्कीम है जिसके अंदर व्यक्ति कभी भी अपने निवेश से संबंधित जानकारी का ब्यौरा ले सकता है|
  • इस योजना का पात्र बनने के लिए आपको एक PRAN नंबर प्रदान किया जाता है जिसके द्वारा प्रत्येक कर्मचारी को एक अलग संख्या से पहचान जाता है | यह नंबर पोर्टेबल होता है अर्थात किसी अलग कार्यालय में स्थानांतरित होने पर भी यह सामान ही रहता है |
  • वर्तमान में टायर 1 में किये गए योगदान के लिए ईईटी के तहत धारा 80 सी के अनुसार एक लाख रूपए तक सकल कुल आय से कटौती के लिए हक़दार होगी |
  • यह एक पारदर्षी जिसमे लोग आसानी से अपने होने वाले लाभ व निवेश की जानकारी ले सकता है |

जरूरी दस्तावेज

  • आपके पास एनएसडीएल से जुडी 17 बैंकों में से किसी भी एक बैंक का अकाउंट हो और आपका पैन उस अकाउंट से लिंक होना चाहिए |
  • आपको अकाउंट ओपन करने के लिए निम्न दस्तावेजों का होना भी जरूरी है –
  • ईमेल आईडी
  • फोटो व हस्ताक्षर की स्कैन्ड कॉपी
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक अकाउंट जिसमे नेट बैंकिंग एक्टिव हो

एनपीएस अकाउंट ऑनलाइन

एनपीएस में ऑनलाइन खाता खोलने के लिए निम्न निर्देशों का पालन करें –

  • सबसे पहले दिए गए link पर क्लिक करें |
  • अब रजिस्ट्रेशन बटन पर क्लिक करें |
  • अब आपके सामने एक न्य पेज ओपन होगा वहां न्यू रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करें |
  • अब पूछी गयी जानकारी को ध्यानपूर्वक पड़ें व भरें |
  • अब अगर आपके पास आधार है तो आधार चुने और अगर पैन है तो पैन चुने |
  • अगर आपने पैन चुना है तो जनरेट ओटीपी पर क्लिक करें और फिर सभी जानकारी दर्ज करने बाद मोबाइल पर आये हुए ओटीपी को डालें और फिर ऑनलाइन फॉर्म पर आवश्यक जानकारी दर्ज करें |
  • अब ऑनलाइन पेमेंट गेटवे की जानकारी भरें |
  • अगर आपने पैन चना है तो सूची में वह बैंक चने जिसमे आपका सेविंग अकाउंट है |
  • अब एक प्रोसेस चलेगी उसके बाद ऑनलाइन फॉर्म में आवश्यक जानकारी भरें |
  • अब अपनी फोटो व साइन अपलोड करें और इसके बाद ऑनलाइन पेमेंट करें |
  • इसके बाद आपका पीआरएएन जनरेट होजाएगा |
No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *