Disclaimer : This website is for informative purpose only and we do not claim this to be an official government website. We try our best to update you frequently regarding the PMAY Scheme. However for latest info you can also visit : pmaymis.gov.in

NIRVIK Yojana – निर्यात ऋण विकास योजना

NIRVIK Scheme (निर्यात ऋण विकास योजना):- आज हम आपको (निर्यात ऋण विकास योजना) Nirvik Scheme Launched By Central Government के बारे में जानकारी प्रदान कर रहे है। जिसमे आपको UPSC, ECIS, Insurance Covers और Nirvik Scheme Date के बारे में जानकारी मिलेगी। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के Apply Online कैसे करे आवेदन या पंजीकरण करने के लिए क्या-क्या पात्रता और जरूरी दस्तावेज़ चाहिए।

What is NIRVIK Scheme (निर्यात ऋण विकास योजना क्या हैं ?):-

इस योजना का आरंभ श्री माननीय पीयूष गोयल ने किया है। यह योजना Export Credit Guarantee Corporation of India के द्वारा Start की है। Nirvik योजना के अंतर्गत Central Government Exporters को Easy Loans देकर Big Relief for Exporters निर्यातकों के लिए बड़ी राहत देगी। केंद्रीय सरकार Exporters को Insurance Premium Rates को 0.6% घटाकर छोटे निर्यातकों को इसका लाभ प्रदान करेगी। यह सभी उन छोटे-छोटे निर्यातकों के लिए Applicable किया जायेगा जिन निर्यातकों के ऊपर 80 Crore Rupees से कम Outstanding Limit है। पीयूष गोयल ने कहा है कि Proposal approval के लिए जल्द ही Cabinet के जरिए फैसला लिया जाएगा।

Objectives of Niryat Rin Vikas Yojana (निर्यात ऋण विकास योजना के उद्देश्य)

Prime Minister NIRVIK Yojana को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य Exporters के लिए Loan Availability और Affordability को प्रोत्साहन करना है। ये निर्णय Indian Exports को Competitive बनाने तथा Export Credit Guarantee Corporation of India Procedures को Exporter के Reconcilable बनाने के लिए Help करेगा। ये New Yojana से Taxes की with Reimbursement Ministry of Micro Exporters को Benefited किया जायेगा। Export Credit Guarantee Corporation of India Insurance Cover Banks को अन्य सभी Facility देगा। Borrower की Credit Rating Accounts में Increased की जाएगी। बढ़े हुए Insurance Cover पर यह निर्भर होगा कि Exporters के लिए Foreigner और Rupee Export Credit Interest Rate 4 % and 8 % से नीचे रहेगा।

Benefits (लाभ)

  • यह निर्यात ऋण विकास योजना Indian Exports को Competitive बनाने में सहायता प्रदान करेगी।
  • निर्यात ऋण विकास योजना Export Credit Guarantee Corporation of India Procedures को Exporter के Reconcilable बना देगी।
  • Exporters के लिए Loan Availability में बढ़ोत्तरी की जाएगी।
  • Claims को Immediately Dispose  करने की वजह से Capital Relief, कम Provision की आवश्यकता और Fluidity की वजह से Insurance Cover में Loan Cost में कमी होने के आसार है।
  • निर्यात ऋण विकास योजना Export Area के लिए Time पर और Sufficient Working Capital निश्चित की जाएगी।
निर्विक योजना
Big Relief for Exporters

Launch Details of Export Credit Insurance Scheme

Niryat Rin Vikas Yojana – एक्सपोर्ट क्रेडिट इंश्योरेंस स्कीम (ECIS) ने लगभग 30 दिनों के अन्दर 50% तक के Interim Payments और Claims को समाप्ति के लिए एक Simple Process निर्धारित किया है। इसके लिए, Exporters को बीमाकृत बैंक के द्वारा अलग प्रकार से Production of Proof of Use of Advances करना पड़ेगा।Export Credit Insurance Scheme (ECIS) Endorsement पांच साल की समय सीमा के लिए Applicable किया जाएगा और इस Scheme की समाप्ति में, Export Credit Guarantee Corporation of India कवर Regular Facilities के साथ Banks के लिए Provide किया जाएगा।

  • Export Credit Guarantee Corporation of India ने Under 10 Crore Rs. के Claims पर Inspection करना बन्द कर दिया है तथा Export Credit Guarantee Corporation of India Board के जरिए इसे Approved किया गया है।
  • Maximum Two-Quarters अथवा NPA की दिनांक के लिए with Indirect Interest Principal Balance को Include करने के लिए Coverage Expanded किया है।
  • अब Export Credit Guarantee Corporation Officers के जरिए Bank Documents एवं Inspection of Records 10 Crore Rs. से अधिक के नुकसानों के लिए Compulsory किया जाएगा। Currently Limit for Settlement of Claims 1 Crore rupees की गई है।
  • यह Proposed Insurance Cover Capital Relief and Provision की कम जरुरत के वजह से Loan cost लाने वाला होगा।

Registration Process (पंजीकरण की प्रक्रिया)

निर्यात ऋण विकास योजना (NIRVIK Scheme) यह योजना की घोषणा कुछ ही समय पूर्व श्री मान पीयूष गोयल ने एक Press Conference में की थी। इस योजना के पंजीकरण प्रक्रिया के बारे में अभी किसी भी प्रकार की कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। जैसे ही इस निर्यात ऋण विकास योजना (NIRVIK Scheme) के Registration Process से सम्बन्धित किसी भी प्रकार की जानकारी सरकार के द्वारा Update होती है। तो हम आपको निर्यात ऋण विकास योजना (NIRVIK Scheme) के पंजीकरण के बारे में अपने Artical के जरिए जानकारी जल्द ही प्रदान करेंगे।

Eligibility Criteria (पात्रता मापदंड)

  • छोटे निर्यातकों के लिए (For Small Exporters Only): योजना का विवरण Expose करता है कि केवल Small Exporters को इस नवीन Centrally sponsored Yojana के Allowances applied करने और प्राप्त करने की Permission दी जाएगी।
  • बैंक की सीमा की आवश्यकता (Bank Limit Requirement ): इस योजना के विवरण में यह उल्लेख किया गया है कि Low Premium Rate सिर्फ उन Exporters के लिए लागू किया जायेगा, जिनके पास Bank Account Limits Available है, जो 80 Crore Rs. का मार्क को Cross नहीं करते है।
  • भारतीयों के स्वामित्व वाला व्यवसाय (Business owned by Indians): इस योजना के सभी Benefits को प्राप्त करने के लिए, Business Ownership एक भारतीय नागरिक (Indian citizen )के पास होना अनिवार्य है।Documents Required for Nirvik Scheme (निर्विक योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज)

Documents Required for Nirvik Scheme

  • Business PAN Card: अगर Exporters के पास संगठन के नाम पर Issued किया गया PAN Card नहीं है, तो वे सभी योजना के लाभ के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे इसलिए PAN Card का होना अति आवश्यक है।
  • Certificate of GST: सभी Small Exporters के पास पंजीकरण दस्तावेज जरूर होना चाहिए, जो GST Department के द्वारा Issued किए गए है।
  • Insurance Documents: अगर कोई Exporter लाभ का दावा करना चाहते हैं, तो इच्छुक Small Exporters के लिए सभी Insurance Policy से संबंधित दस्तावेज Submit करना अनिवार्य है।
  • Identity Proof of The Owners (मालिकों का पहचान प्रमाण): कंपनी किसी एक व्यक्ति के स्वामित्व की हो अथवा किसी Partnership Firm की हो, दावेदारों(Claimants ) की सत्यता की जांच के लिए आधार कार्ड की तरह पहचान के लिए दस्तावेज जमा करना अनिवार्य है।
  • Bank Loan Certificates: अगर आवेदक ने कभी बैंक ऋण प्राप्त किया है तो उससे जुड़े जांच के लिए ऋण संबंधी सभी दस्तावेज जमा कराना अनिवार्य होगा।
No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *